अपडेट
नालको के साथ अनुसंधान एवं विकास संयोजन/ तकनीकी के वाणिज्यिकरण हेतु निविदाएँ आमंत्रित हैं। 21/02/2022     | कृपया ध्यान दें: शेयरधारक (भौतिक प्रतिभूति धारकों द्वारा पीएएन,केवाइसी विवरण एवं नामांकन प्रदान करना आवश्यक) 16/12/2021     | Participate in Azadi Ka Amrit Mahotsav competitions. Contribute your renderings on Desh Bhakti Geet writing, Lori writing & Rangoli making at https://amritmahotsav.nic.in/competitions.htm 24/11/2021     | Visit: Ministry of Mines is organizing a national event to mark the Handing over of 100 G4 Mineral Blocks by GSI to the State Governments on September 8th, 2021, at 3 PM at New Delhi with FICCI 06/09/2021     | Geological Survey of India (GSI), under the aegis of Ministry of Mines is organizing a national event to mark the Handing over of 100 G4 Mineral Blocks by GSI to the State Governments on September 8th, 2021, at 3 PM at New Delhi with FICCI. Click here to register. 06/09/2021     | “कृपया ध्यान दें: शेयरधारक ((ई-मेल आईडी और मोबाइल नंबर का पंजीकरण) 13/08/2021     | Global Tender Enquiry (GTE) for Engagement of EPCM Consultant for Establishing Facility for Aluminium Alloy Melting, Slab Casting and Flat Rolled Products Production Facility at Nellore, Andhra Pradesh, India. 10/08/2021     | Request for Expression of Interest for Lithium Ore Offtake from reputed Indian Firm(s) / Lithium Processing Technologist / Consortium from prospective mining facilities of KABIL and its international partners for import of ore/product to India 03/08/2021     | भारत के राष्ट्रगान के लिए अपने प्रस्तुतिकरण का योगदान करेंः https://rashtragaan.in/ 02/08/2021     | NIT for Engagement of Consultant for preparation of EIA and EMP study to obtain EC to set up High End Aluminium Alloy project by “Utkarsha Aluminium Dhatu Nigam Ltd.” 16/07/2020     | Deposit of one time Registration fees for PRMBS 26/06/2020     | Covid Mailer from Ministry 06/05/2020     | Integrated Govt. Online Training ( iGOT) courses on DIKSHA platform on Covid 19 pandemic 22/04/2020     | Circular : Integrated Govt. Online Training (iGOT) courses on DIKSHA platform on COVID-19 pandemic 22/04/2020     | EOI – for SUPPLY, INSTALLATION, OPERATION AND MAINTENANCE OF GPS & GPRS BASED INTEGRATED RAKE TRACKING SYSTEM IN CAPTIVE POWER PLANT, ANGUL, ODISHA 11/04/2020     | Advertisement of PESB for the post of Director(Commercial) 18/03/2020     | The corrigendum against the Advt. no 10200101 13/03/2020     | आज माननीय खान मंत्री श्री प्रल्हाद जोशी की उपस्थिति में संयुक्त उद्यम खनिज बिदेश इंडिया लिमिटेड (KABIL) का समझौता खान मंत्रालय के अंतर्गत नालको, एचसीएल और एमईसीएल द्वारा किया गया | 01/08/2019     | 2019-20 के लिए PRMBS योगदान का संशोधन 02/04/2019     | अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उद्यमियों से विक्रेता पंजीकरण के लिए बुलावा 24/01/2019     | कें.सा.क्षे.उ. इंटरनेट के लिए समन्वय ज्ञान प्रबंधन पोर्टल के बारे में जानकारी 10/08/2018     | सार्वजनिक सूचना 26/01/2018     |

निदेशक मण्डल

CMD Profile Picture

श्री श्रीधर पात्र

अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक

श्री श्रीधर पात्र 17 दिसंबर 2019 से कंपनी के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक नियुक्त हुए हैं।

श्री श्रीधर पात्र, निदेशक (वित्त) के ओहदे पर कंपनी से दिनांक – 01.09.2018 को जुड़े। श्री पात्र को दिनांक – 01.12.2019 से ही कंपनी के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त कार्यभार प्राप्त था। नालको में अपनी सेवा आरंभ करने से पूर्व, आपने टीएचडीसी में निदेशक (वित्त) के तौर पर पाँच वर्षों से भी अधिक सेवा प्रदान की है। 12.10.1964 को जन्मे, श्री पात्र भारतीय सनदी लेखाकार संस्थान के सदस्य एवं उत्कल विश्वविद्यालय के रैंक होल्डर ग्रेजूएट हैं। श्री पात्र एक बेहतरीन वित्त व लेखा वृत्तिक हैं, जिन्होंने परिणाम-गामी एवं समूह-विषयक नेतृत्व के साथ संस्था…

plusimg

सरकारी मनोनीत निदेशक

श्री संजय लोहिया, आईएएस
सरकारी मनोनीत निदेशक

श्री संजय लोहिया, 1994 बैच के आईएएस अधिकारी (असम मेघालय कैडर) ने अक्तूबर 2020 में संयुक्त सचिव, खान मंत्रालय का पदभार ग्रहण किया। आप दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक करने के उपरान्त भारतीय प्रशासनिक सेवा (भा.प्र.से.) में शामिल हुए। संयुक्त सचिव, खान मंत्रालय में नियुक्ति से पूर्व आप मुख्यमंत्री, असम सरकार के प्रधान सचिव रहे। आपने असम सरकार में विभिन्न क्षमताओं से कार्य किया है। आपने प्रधानमंत्री कार्यालय, भारत सरकार में निदेशक के पद पर भी कार्य किया है, इससे पूर्व आप वर्ष 2011-2016 के दौरान संयुक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय रहे। असम सरकार में अपने कार्यकाल के दौरान आपने विभिन्न विभागों जैसे – वित्त, कृषि एवं शहरी विकास में विभिन्न क्षमताओं से कार्य किया है एवं आपके पास व्यापक अनुभव है।

डॉ. वीना कुमारी डेरमल
सरकारी मनोनीत निदेशक

डॉ. वीणा कुमारी डेरमल 1998 बैच की भारत सरकार के भारतीय पोस्टल सेवा से हैं। वर्तमान में, आप भारत सरकार, खान मंत्रालय, नई दिल्ली में संयुक्त सचिव के रूप में कार्यरत हैं, जहाँ आप नीति एवं विधायी अनुभाग का कार्यभार देखती हैं।

डॉ. वीणा कुमारी डेरमल ने अखिल भारतीय स्तर पर पोस्टल विभाग में विविध क्षमताओं में कार्य किया है। आपने खान मंत्रालय में 2017 में निदेशक के रूप में कार्यभार ग्रहण किया था तथा 2020 में संयुक्त सचिव के रूप में पदोन्नति हुई। 2020 तथा 2021 में आप एमएमडीआर अधिनियम में संशोधनों तथा उसके अधीन विधानों से जुड़ी रहीं। आपको भारत के खनिज नीति का गहन ज्ञान प्राप्त है।

डॉ. वीणा कुमारी डेरमल ने केरल कृषि विश्वविद्यालय से बी.एससी. (कृषि), एम.एससी.(बागवानी) पूर्ण किया तथा भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली से बागवानी में पी.एचडी की उपाधि प्राप्त की। आपने भारतीय प्रबंधन संस्थान, बेंगलूरू से लोक नीति में स्नात्तकोत्तर डिप्लोमा किया है। आपने राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विविध अल्पकालिक पाठ्यक्रमों में भाग लिया है।

डॉ. वीणा कुमारी डेरमल को सरकारी व सार्वजनिक क्षेत्रों में कार्य का प्रचुर अनुभव प्राप्त है।

कार्यात्मक निदेशक

dirhr@nalcoindia.co.in

(0674) 2300430

Functional Directors
श्री राधाश्याम महापात्र
निदेशक (मानव संसाधन)

श्री राधाश्याम महापात्र 01.01.2020 से निदेशक (मानव संसाधन) के रूप में कंपनी से जुड़े।

श्री महापात्र को विभिन्न क्षमताओं में विद्युत, तेल और कोयला क्षेत्रों में गहन अनुभव है तथा उन्होंने सफलतापूर्वक विविध और उच्चतर जिम्मेदारियों का वहन किया है। वह खलीकोट कॉलेज, ब्रह्मपुर, ओडिशा से भौतिकी स्नातक हैं तथा उन्होंने बेरहामपुर विश्वविद्यालय से इंडस्ट्रियल रिलेशन एंड लेबर वेलफेयर में स्नातकोत्तर की है। श्री महापात्रो ने कई क्षेत्रों के मानव संसाधन कार्यों को संभाला है। एनएचपीसी, इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड और सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) में अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने सामूहिक कार्य करने के माध्यम से उत्पादक कार्य संस्कृति की शुरुआत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

श्री महापात्र की रुचि के क्षेत्रों में उत्पादकता में सुधार, मानव विकास, कौशल विकास के माध्यम से रोजगार का सृजन, खेल, संस्कृति और मानव गरिमा में सुधार शामिल हैं। उन्होंने समुदायों की आवश्यकता और आकांक्षाओं के प्रति संवेदनशील बनाने के लिए प्रशासन में सुधार हेतु लगन से काम किया है। उनकी विशिष्टता में पारदर्शिता, नेतृत्व और सामूहिक कार्य शामिल है।

श्री एम.पी. मिश्र
निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी)

श्री मनसा प्रसाद मिश्र ने निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी) के तौर पर कंपनी में दिनांक 01.11.2020 को पदभार ग्रहण किया।

19.07.1963 को जन्मे श्री मनसा प्रसाद मिश्र ने यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, बुर्ला से यांत्रिक अभियांत्रिकी में अपना स्नातक पूर्ण किया। वे 1984 में स्नातक प्रशिक्षु अभियंता के रूप में नालको से जुड़े। नालको में अपने साढ़े तीन दशक के लम्बे कार्यकाल के दौरान, श्री मिश्र ने एल्यूमिनियम तकनीकी के क्षेत्र में तकनीकी अपनाने से लेकर धरातल पर लागू करने तक महत्वपूर्ण योगदान दिया। श्री मिश्र के पास नालको के प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल में परियोजना कार्यान्वयन से लेकर संयंत्र परिचालन तक तथा ग्रीनफिल्ड तथा ब्राउनफील्ड एल्यूमिनियम परियोजनाओं, नवीकरणीय परियोजनाओं आदि व्यापार विकास गतिविधियों का गहन अनुभव है। निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी) के रूप में कार्यभार ग्रहण करने से पूर्व श्री मिश्र प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल, अनुगुळ में कार्यपालक निदेशक के रूप में पदस्थ थे।

श्री मिश्र नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेटल्स, एफआईई ऑफ़ इंस्टीट्यूशन ऑफ़ इंजीनियर्स (इंडिया) तथा भारतीय एल्यूमिनियम संघ के सदस्य हैं।

 

श्री बिजय कुमार दास
निदेशक (उत्पादन)

श्री बिजय कुमार दास ने ‘नवरत्न’ केंद्रीय लोक उद्यम नेशनल एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (नालको) के निदेशक (उत्पादन) का पदभार 01 दिसंबर 2020 को ग्रहण किया। इस नए पदभार को ग्रहण करने से पूर्व श्री दास कंपनी के निगम कार्यालय, भुवनेश्वर में कार्यपालक निदेशक (परियोजना) के तौर पर कार्यरत थे।

एनआईटी, राऊरकेला (पूर्व में आरईसी) से यांत्रिक अभियांत्रिकी में स्नातक, श्री दास ने 1984 में प्रथम बैच के स्नातक अभियंता प्रशिक्षु के रूप में नालको में कार्यग्रहण किया था। कंपनी के व्यवसाय विकास के चुनौतीपूर्ण कार्यों को ग्रहण करने से पूर्व, उन्हे परियोजना के प्रारंभिक चरण से ही अनुगुळ में कंपनी के ग्रहीत विद्युत संयंत्र में नियुक्त किया गया था, जहां पर वह विभिन्न प्रमुख पदों पर रहे। तत्पश्चात कार्यपालक निदेशक (परियोजना) के पद पर पदोन्नत होने से पूर्व, उन्हें कंपनी के विकास-पथ की योजना एवं रणनीति तय करने हेतु महाप्रबंधक (निगम योजना एवं रणनीतिक प्रबंधन) का कार्यभार सौंपा गया।

नालको में तीन दशक से अधिक अवधि के अपने कार्यकाल के दौरान, अक्षय उर्जा परियोजनाओं में नई संभावनाओं के द्वार खोलने के साथ ही साथ श्री दास ने विभिन्न परियोजनाओं के निष्पादन में महत्वपूर्ण योगदान दिया। श्री बिजय कुमार दास के समृद्ध एवं विविध अनुभव के साथ निदेशक (उत्पादन) के तौर पर शामिल होने से नालको के निदेशक-मंडल को और मजबूती मिलेगी।

श्री रमेश चंद्र जोशी
निदेशक (वित्त)

12.04.1965 को जन्मे, श्री रमेश चंद्र जोशी ने सन 1989 में आईसीएमएआई से अपना प्रोफेशनल कोर्स पूरा किया। आपने सम्बलपुर विश्वविद्यालय से स्नातक विधि भी पूरा किया है।

आप वित्त और लेखा संबंधी एक बेहतरीन अनुभवी प्रोफेशनल ज्ञान से संपन्न निर्णय लेने की क्षमता, विश्लेषणात्मक विषयों, व्यापारिक तीक्ष्णता, समस्या समाधान में निपुणता, परिणाम उन्मुख और समूह भावना का नेतृत्व कौशल एवं संगठन की उन्नति के लिए प्रतिबद्ध हैं। आपकी शिक्षा में भी विशेष रूचि है। श्री जोशी को वित्त के विभिन्न क्षेत्र के अंतर्गत 32 वर्षों का गहन अनुभव प्राप्त है, जिसमें से 27 वर्ष के अनुभव में नालको के प्रमुख वित्त क्षेत्र, संविदा और विनियामक विषय शामिल हैं। आप नालको और इडकोल(आईडीसीओएल) के संयुक्त उद्यम, मैं. अनुगुळ एल्यूमिनियम पार्क प्रा. लि. के बोर्ड के नामित निदेशक भी हैं।

श्री सदाशिव सामन्तराय
निदेशक (वाणिज्यिक)

श्री सदाशिव सामंतराय 22.03.2022 को नेशनल एल्युमीनियम कंपनी लिमिटेड, एक नवरत्न सीपीएसई के निदेशक (वाणिज्यिक) के रूप में शामिल हुए हैं।

वर्ष 1965 में जन्मे, श्री सामंतराय अपनी सम्पूर्ण शिक्षा के दौरान विद्यालयों तथा महाविद्यालयों में उच्च स्थान धारक रहे। गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, पनतनगर, जो अब उत्तराखंड में स्थित है, से स्नातक के सभी चार वर्षों में यूनिवर्सिटी मेरिट सर्टिफिकेट के साथ बी.टेक (मैकेनिकल) की उपाधिक पूर्ण करने के पश्चात, आपने वर्ष 1985 में नालको में स्नातक अभियंता प्रशिक्षु के रूप में कार्यग्रहण किया। आपने विपणन – वित्त में विशेषज्ञता के साथ उत्कल विश्वविद्यालय से एमबीए की उपाधि प्राप्त की। आपने व्यवसाय प्रशासन में स्नात्तकोत्तर डिप्लोमा और विपणन प्रबंधन में स्नात्तकोत्तर डिप्लोमा भी किया है।

अपने निपुण रणनीतिक प्रबंधन,  ईमानदारी, कड़ी मेहनत, समर्पण और क्षमता के कारण निदेशक (वाणिज्यिक) के रूप में चुने जाने से पूर्व आप कार्यकारी निदेशक (वाणिज्यिक) के स्तर तक पहुँचे।

श्री सामंतराय को संयंत्रों और वाणिज्यिक क्षेत्रों में 36 वर्षों से अधिक का समृद्ध अनुभव है। संयंत्रों में काम करते हुए आप ग्रहीत विद्युत संयंत्र और प्रद्रावक में इरेक्शन, कमीशनिंग, संचालन और उत्पादन योजना में शामिल रहे। आपकी रणनीतियों और योजना के कारण, नालको उत्पादन और उत्पादकता के उच्चतम स्तर को प्राप्त कर सका। आप नालको को कठिनाई से उभारने के लिए रिकॉर्ड समय में सीपीपी में जले हुए सिंगल लाइन कोल केबल बेल्ट की बहाली, एमआईएस प्रणाली की वैज्ञानिक योजना, डिजाइन और कार्यान्वयन, महत्वपूर्ण उपकरण उपलब्धता, उत्पादकता बढ़ाने के लिए प्रद्रावक, ढुलाई प्रणाली का अनुकूलन आदि  संयंत्र के कई रणनीतिक व महत्वपूर्ण निर्णयों और ऐतिहासिक उपलब्धियों में शामिल रहे।

आपके पास विपणन (सभी उत्पादों को शामिल करते हुए निर्यात और घरेलू बाजार), आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन (क्रय, भंडारण व उपभोग नियंत्रण) और ढुलाई में मजबूत बहु-अनुशासनात्मक वाणिज्यिक अनुभव है। अपने लंबे करियर के दौरान आपने कंपनी में कई ऐतिहासिक पहलों जैसे – ग्राहक के साथ पहला समझौता ज्ञापन प्रणाली, एलएमई से जुड़ा हुआ मूल्य निर्धारण व्यवस्था, धातु का एलएमई पंजीकरण, निर्यात के लिए ई-निविदा, पारदर्शिता लाने के लिए वाणिज्यिक नियमावली और दिशानिर्देश तैयार करना, ढुलाई में वृद्धि,  कुशल आपूर्ति श्रृंखला और लागत बचत के लिए प्रणाली, रणनीतिक स्थानों पर मुख्य भंडार गृह खोलना, ग्राहकों (नगीना) और विक्रेताओं (नमस्य) के लिए मोबाइल एप्प, ग्राहक और आपूर्तिकर्ता संतुष्टि सूचकांक आदि जैसी पहलों का क्रियान्वयन किया। आप 12 से अधिक नए प्रमुख उत्पाद लाने सहित कई मूल्य वर्धित उत्पाद के विकास और बाजार में उतराने की प्रक्रिया में गहनता से जुड़े रहे। आपके नेतृत्व में नालको के वाणिज्यिक कामकाज को बाजार के अवसरों को समझने और अवसरों को भुनाने हेतु सभी रूप से सक्षम होने के लिए विकसित किया गया, जिसके परिणामस्वरूप 16-17 से 2018-19 के दौरान रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन हुआ। आपकी लीक से हटकर रणनीतियों के कारण कोविड -19 लॉकडाउन के दौरान भी प्रमुख कच्चे माल की आपूर्ति बिना किसी बाधा के जारी रही, जिससे खरीद लागत में भारी बचत के साथ उत्पादन के शून्य नुकसान के साथ संयंत्र संचालन को बनाए रखा जा सका, परिणामस्वरूप एलएमई कीमतों में गिरावट के दौरान भी कंपनी को 2019-20 और 2020-21 में लाभ अर्जन में मदद मिली।

श्री सामंतराय, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग के सदस्य, चार्टर्ड इंजीनियर्स सर्टिफिकेट के साथ इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स में फेलो तथा इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैटेरियल्स मैनेजमेंट के नेशनल काउंसिल के सदस्य हैं।

अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

श्री रवि नाथ झा
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

श्री रवि नाथ झा रांची विश्वविद्यालय से विज्ञान स्नातक हैं। पत्रकारिता में उनकी पेशेवर विशेषज्ञता है। आपने रांची के विभिन्न स्थानीय समाचार पत्रों के लिए एक स्वतंत्र पत्रकार के रूप में कार्य किया है। आप अक्टूबर, 2003 से अंत्योदय संदेश और अंत्योदय संकल्प के संपादक के रूप में कार्यरत हैं।

डॉ. बी. आर. रामकृष्ण
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

डॉ बी आर रामकृष्ण बीएसएएम, बीएएमएस, एमडी (आयुर्वेदिक), एमएससी और पीएचडी (योग) के उपाधि धारक हैं और बीएसएएम में स्वर्ण पदक और कर्नाटक राज्य पुरस्कार प्राप्तकर्ता हैं। आपके पास स्नातक और स्नातकोत्तर अध्ययन का 30 वर्ष का इंटीग्रेटिव मेडिसिन प्रैक्टिस में 40 वर्ष और अनुसंधान में 23 वर्ष का अनुभव है। आपने भारत सरकार और कर्नाटक सरकार में आयुर्वेद, योग और खेल के क्षेत्र में अत्यंत वरिष्ठ पदों पर कार्य किया है। आपने 2006 से जर्मनी, ऑस्ट्रिया, स्पेन, स्विटजरलैंड, हांगकांग, चीन, फ्रांस, इटली, सिंगापुर, मलेशिया और थाईलैंड में आयुर्वेद और योग कार्यशालाएं आयोजित की हैं और 2015 से जर्मनी और ऑस्ट्रिया में आईडीवाई कार्यक्रम आयोजित किए हैं। आपको सर्वश्रेष्ठ शिक्षक पुरस्कार, आयुर्वेद के ध्येता, अध्यात्म चेतना पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।

अधिवक्ता जॉर्ज कुरियन
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

श्री जॉर्ज कुरियन केरल के कोट्टायम जिले के पेशे से एक वकील हैं और उन्हें विभिन्न न्यायालयों में एक वकील के रूप में अभ्यास करने का समृद्ध और व्यापक अनुभव है।

डॉ. अजय नारंग
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

डॉ. अजय नारंग वर्तमान में अपनी कंपनी के प्रमुख हेल्थकेयर वेंचर- ‘समग्र केयर’ के साथ आगे बढ़ते हुए- जटिल भारतीय परिदृश्य के लिए बनाई गई चिकित्सा सेवाओं का एक विघटनकारी मॉडल पेश कर रहे हैं। उद्यम भारत के टियर -2 शहरों में उच्च-गुणवत्ता, न्यायसंगत, समय पर स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच को सक्षम करने पर केंद्रित है।

आपके पास उद्योग और व्यापार में तीस से अधिक वर्षों का अनुभव है – भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका दोनों में – अपने करियर के दौरान निगमों के निदेशक मंडल में रहे हैं। पूर्व में, लगभग दो दशकों तक, आप संयुक्त राज्य अमेरिका में कई ग्राहकों को सेवाएं प्रदान करते हुए, आईटी प्रबंधन क्षेत्र में कार्यरत रहे।

अपने करियर की शुरुआत में ही आपने स्वयं को निर्माण और आपूर्ति उद्योग में डुबो दिया। एक उद्यमी के रूप में, आपने एक बीमार औद्योगिक उद्यम के प्रबंधन की चुनौती को स्वीकार किया, जो रसोई गैस सिलेंडरों के निर्माण में शामिल था। छोटी उम्र से शुरू होकर, एक दशक की अवधि में, उन्होंने सफलतापूर्वक एक एसएसआई-सिलेंडर निर्माण सुविधा को अत्यधिक लाभदायक उद्यम में बदल दिया।

योग्यता के आधार पर, डॉ नारंग एक एलोपैथिक जनरल चिकित्सक हैं, और सक्रिय भागीदारी एवं गैर-लाभकारी गतिविधियों की एक श्रृंखला में संलग्न होकर समाज और अपने साथी नागरिकों को वापस देने का प्रयास करते हैं। आप हिंदुस्तान समाचार, दिल्ली के निदेशक मंडल में रहे हैं। आपने सूक्ष्म और लघु उद्योग हेतु कार्यरत एक अखिल भारतीय संगठन ‘लघु उद्योग भारती’ के अखिल भारतीय उपाध्यक्ष का पद भी संभाला। वर्तमान में आप इसकी राष्ट्रीय कार्य समिति के कार्यकारी सदस्य हैं। आप विश्व संवाद केंद्र ट्रस्ट, भोपाल के ट्रस्टी हैं और उसके अध्यक्ष भी हैं।

आप सरकार के कई निकायों, यथा श्रम सलाहकार बोर्ड, मध्य प्रदेश; म.प्र. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद की कार्यकारी परिषद; एमपी विद्युत नियामक आयोग का आपूर्ति कोड पैनल; अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय, भोपाल की सामान्य परिषद; क्षेत्रीय सलाहकार समिति, केंद्रीय श्रमिक शिक्षा बोर्ड; और एमएसएमई के राष्ट्रीय बोर्ड, भारत सरकार हेतु विशेष आमंत्रित के मानद सदस्य रहे हैं।

श्री वाई.पी. चिलिओ
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

श्री वाई. पी. चिल्लो नागालैंड विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातक हैं। आप एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं और आपने बड़े पैमाने पर जनता के कल्याण के लिए विभिन्न समुदाय आधारित संगठनों में विभिन्न क्षमताओं में काम किया है। आपने पूर्वी नागालैंड पीपुल्स ऑर्गनाइजेशन के केंद्रीय कार्यकारी समिति के सदस्य, रूप में कार्य किया है। आप इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी, नागालैंड के आजीवन सदस्य हैं।

सुश्री (डॉ.) शतरूपा
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

सुश्री (डॉ.) शतरूपा कलकत्ता विश्वविद्यालय से बी.ए. (इतिहास) में रैंक धारक हैं और एम.ए. में स्वर्ण पदक के साथ नंबर 1 स्थान पर रहीं। आपने 2020 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से प्राचीन भारतीय इतिहास और संस्कृति में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। आप एक कॉर्पोरेट प्रशिक्षक हैं और 15 से अधिक वर्षों के अनुभव के साथ एक स्वतंत्र लेखक हैं। आपने 2012-14 के दौरान लगातार दो बार बंगाल राष्ट्रीय चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की महिला शाखा की अध्यक्ष का पद संभाला।

अधिवक्ता दुष्यंत उपाध्याय
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

श्री दुष्यंत उपाध्याय उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के पेशे से एक वकील हैं और उन्हें विभिन्न न्यायालयों में वकील के रूप में अभ्यास करने का 30 से अधिक वर्षों का समृद्ध और गहन अनुभव है।

श्री संजय रमनलाल पटेल
अंशकालिक गैर-सरकारी (स्वतंत्र) निदेशक

18 मई 1970 को जन्मे श्री संजय रमनलाल पटेल गुजरात विश्वविद्यालय से विज्ञान (रसायन) में स्नातक की उपाधि प्राप्त हैं। आप वर्तमान में, कृषि उत्पाद बाजार समिति (एपीएमसी), खम्भात के वर्ष 2018 से अध्यक्ष हैं। आप वर्ष 2018 से सरदार पटेल विश्विद्यालय, वी. वी. नगर के सिंडिकेट सदस्य हैं तथा साथ ही, रालेज़ केदावनी मंडल रालेज के अध्यक्ष भी हैं।