अपडेट
शुद्धिपत्र ” नाल्को के साथ प्रौद्योगिकी का अनुसंधान एवं विकास सहयोग / व्यावसायीकरण” 22/10/2019     | नाल्को के साथ प्रौद्योगिकी का अनुसंधान एवं विकास सहयोग / व्यावसायीकरण 30/09/2019     | नाल्को में नवीकरणीय ऊर्जा पर कौशल विकास प्रशिक्षण के लिए रुचि की अभिव्यक्ति 21/09/2019     | आज माननीय खान मंत्री श्री प्रल्हाद जोशी की उपस्थिति में संयुक्त उद्यम खनिज बिदेश इंडिया लिमिटेड (KABIL) का समझौता खान मंत्रालय के अंतर्गत नालको, एचसीएल और एमईसीएल द्वारा किया गया | 01/08/2019     | नालको के लिए वर्ष का नवरत्न पुरस्कार 14/06/2019     | 2019-20 के लिए लागत और कार्य लेखा परीक्षक की नियुक्ति 31/05/2019     | 31.03.2019 को समाप्त वर्ष के लिए अंकेक्षित वित्तीय परिणाम 30/05/2019     | Recruitment Advertisement of PESB for the post of Director (HR) 02/05/2019     | 2019-20 के लिए PRMBS योगदान का संशोधन 02/04/2019     | अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उद्यमियों से विक्रेता पंजीकरण के लिए बुलावा 24/01/2019     | कें.सा.क्षे.उ. इंटरनेट के लिए समन्वय ज्ञान प्रबंधन पोर्टल के बारे में जानकारी 10/08/2018     | सार्वजनिक सूचना 26/01/2018     | ज्ञानालोक – अपना रचनात्मक कौशल प्रदर्शित करें और पुरस्कार पाएँ 25/07/2018     |

उत्पादन और वित्तीय विशिष्टाएँ

  • 100% क्षमता उपयोग के साथ, नालको की पंचपटमाली खान ने वित्त वर्ष 2018-19 में 72.31 लाख मेट्रिक टन का अब तक का सर्वाधिक बॉक्साइट परिवहन हासिल किया।
  • एल्यूमिना परिशोधक ने वित्त वर्ष 2018-19 में 102.5% क्षमता उपयोग के साथ 21.53 लाख मेट्रिक टन का अब तक का सर्वाधिक एल्यूमिना हाइड्रेट का उत्पादन हासिल किया
  • पिछले 8 वर्षों से सर्वाधिक धातु उत्पादन वर्ष 2018-19 में हुआ।
  • नालको निजी क्षेत्र की प्रतियोगी कंपनियों से 28% का इबिटा(ब्याज, मूल्यह्रास, कर, एवं ऋणशोधन पूर्व आय) सीमान्त दर्ज करके आगे चल रही है।
  • 11,386 करोड़ रुपए का शुद्ध बिक्री कारोबार हुआ, जो पिछले वर्ष पर 21% की वृद्धि दर्शाता है, और कंपनी की स्थापना के बाद से अबतक का सर्वाधिक है।
  • नालको ने अपने 2017-18 के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 2018-19 में 1,732 करोड़ रुपये के शुद्ध लाभ के साथ एक दशक में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दर्ज किया, जो पिछले वर्ष की तुलना में 29% की वृद्धि दर्शाता है।
  • नालको ने वित्त वर्ष 2018-19 में सर्वाधिक 4,793 करोड़ रुपये की निर्यात आय हासिल की, जिससे पिछले वर्ष की तुलना में 18% की वृद्धि दर्ज हुई।
  • वित्त वर्ष 2018-19 के लिए रिकॉर्ड 115% लाभांश (90% अंतरिम लाभांश का भुगतान और बोर्ड द्वारा 25% अंतिम लाभांश की सिफारिश), स्थापना के बाद से सर्वाधिक है।